• artikochar 20w

    अगर रूठ भी जाऊं कभी तो मना लेना
    बदमाशियो को मेरी अपनी खामोशी मे छुपा लेना

    चल तो लूंगी तुम्हारे साथ हमेशा
    पर कभी डगमगा गयी राहों में
    तो तुम ज़रा सा हाथ बढ़ा देना

    कोशिश करूंगी तुम्हे खुश करने की
    पर कभी हों जाऊं उदास में
    तो तुम ज़रा सा मुस्कुरा देना

    सिखा है मैने सुकून से रहना
    पर कभी हों जाये नींद मेरी छूमंतर
    तो तुम ज़रा सा सहला देना

    यूँ तो हुँ में बहुत सयानी
    पर कभी हों जाये कोई गुश्ताखी
    तो तुम ज़रा सा समझा देना

    Read More

    Valentine's

    Though I am not believe in जन्म जन्म wala pyaar
    But it's valentine's week yaar
    ©artikochar