• amrita_n 60w

    @hindiwriters
    •6 May 2021•

    Read More

    ऐसी कोई आँखें दे, जो आँसुओं को पहचान सके,
    खुदा!जो मुझे समझ सके, उस शख़्स से मिलाना।

    यूँ तो जिंदगी में हर कोई मिलकर बिछड़ गया,
    जो हमेशा मेरे साथ रहे, उसे मेरा बनाना।

    सुनो, वो मेरे आखरी कदम तक साथ चले,
    ग़र वो न समझ सके, तो उसे समझाना।

    और हर जहमत में तुमने मेरा साथ दिया है,
    कौन मेरा है, कौन मेरा नहीं ये भी बताना।

    हर किसी को नही आता अपना बना जाना,
    ग़र मुझमे खामियाँ हो तो मुझे दिखाना।

    किसी से भी बात करने में सुकूँ नहीं मिलता,
    मेरे जैसा कोई तुम्हें मिल गया तो बताना।

    ~अमृता