• innerthoughts_ 154w

    हमारा मिलना तकदीर में नहीं,
    पर अब भी मुझे तेरा इंतज़ार है!

    लोगो का ताना चुपचाप सह रही हूँ,
    पर अब भी तुझसे मोहब्बत बेशुमार है!

    उम्मीद है तेरे वापस लौट आने की,
    तेरे संग वो खूबसूरत शाम बिताने की,

    शायद तुम्हारे ख्वाब में अब मैं कहीं नहीं,
    पर अब भी मुझे तुमसे बेइंतहा प्यार है!!

    ©innerthoughts_