Grid View
List View
Reposts
  • psprem 22h

    ख्वाहिश

    ख्वाहिशें जिंदगी भर पूरी होती नहीं किसी की।
    ये वो अनबुझ प्यास है जो कभी मिटती नहीं किसी की।
    ©psprem

  • psprem 1d

    तरह

    डगमगा रही जिन्दगी, उदास है शमशान की तरह।
    भटक रहा है आदमी, रास्ते में अनजान की तरह।
    सबको पता है कि कुछ दिन के मेहमान है यहां।
    फिर भी लगा है लूटने में पक्के बेईमान की तरह।
    ©psprem

  • psprem 1w

    हाथ

    तकदीर लकीरों से नहीं,हाथों की मेहनत से बनाई जाती है।
    अगर दिल में है जज्बा तो अलग पहचान बनाई जाती है।
    ये जिन्दगी है यारो,ये खुद ही संवरनी पड़ती है।
    वर्ना तो दुश्वारियों की दीवार बनकर ये सामने दिखाई देती है।
    तकदीर तो उनकी भी होती है जिनके हाथ नहीं होते।
    मगर ये हाथ ही हैं जिनके बलपर जीवन की तस्वीर सजाई जाती है।
    ©psprem

  • psprem 2w

    युवा

    उठो हिंद के जवान, मचे रण में घमासान,
    उड़े अम्बर में निशान,अब हुंकार के चलो।
    सीमा ऊपर खड़ी हुई, माता रही पुकार।
    जल्दी आओ मेरे वीरों ,होकर के तैयार।
    अब होकर के होशियार, हाथ में लेकर के हथियार,सीमा कर जाओ ना पार,अब हुंकार के चलो।
    यू पी सीपी पंजाब बिहारी,बंगाली मद्रासी।
    सीमा पर लड़ने वाला,हर वीर हो भारतवासी।
    विश्वासी हो शान से,अब्दुल वायुयान से, अयुब खां राजस्थान से ,हुंकार के चलो।
    हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई,सब का देश है न्यारा।
    सब आपस में भाई भाई ,सबको देश है प्यारा।
    सारा चलेगा हिंदुस्तान,कुचलने चीन और पाकिस्तान।
    देखे अमरीका ईरान,अब हुंकार के चलो।
    चलो मैदान ए जंग में,बन अभिमन्यु वीर।
    चारों ओर तुम्हारे चमके, अर्जुन जैसे तीर।
    उठाओ गांडीव तीर कमान, गीता कर्म योग कर ध्यान, महाभारत के दरयान,अब हुंकार के चलो।
    ©psprem

  • psprem 2w

    उनके बिना

    मोम सा दिल था मेरा,अब तो ये भी पत्थर हो गया है।
    कलेजा भी शून्य है,जाने क्या इसके भीतर खो गया है।
    सूख गए आंखों के आंसू पलके भी अब बंद हो गई।
    सूने हो गए सपने सारे,जज्बात भी निरुत्तर सो गया है।
    ©psprem

  • psprem 2w

    देकर जिसको अपनी छाया।
    धूप छांव से जिसे बचाया।
    पंछी बनकर ऐसी उड़ गई,
    जिसका कोई भेद ना पाया।
    ©psprem

  • psprem 2w

    सादा जीवन उच्च विचार,,,,,,
    ये ही है जीवन का आधार।
    संतुलित भोजन हंसमुख व्यवहार,,,
    कोई कष्ट कभी नहीं होगा।
    बड़ो को मान, छोटों को प्यार।
    ©psprem

  • psprem 2w

    ये सोचकर दौड़ते रहे, जिन्दगी भर।
    की इस जिन्दगी से कुछ मिल जाएगा।
    मगर इस जिन्दगी ने तो हमारी पूरी,
    जिन्दगी को ही निचोड़ कर रख दिया।
    ©psprem

  • psprem 2w

    शेर

    जिन्दगी में सादगी का मजा ही कुछ और है।
    बनावट में लोग हमेशा परेशान रहा करते हैं।
    ©psprem

  • psprem 3w

    इस दुनियां में तुम मुझे,सबसे प्यारी लगती हो।
    प्यार के मसले में तुम,सबसे न्यारी लगती हो।
    सुंदरता में तुमसे ज्यादा,कोई हो नहीं सकता।
    मेरे दिल के गुलशन के, फूलों की क्यारी लगती हो।
    ©psprem