Grid View
List View
Reposts
  • saanjh__ 4d



    एक अल्हड़ बचपने की तरह
    मिट्टी के गुल्लक में
    जमा किए हैं मैंने
    कई अकेली रातों के सितारें

    जब से बूढ़ी दादी-मां से सुना था कि
    इन सितारों में तुम्हारा कोई अपना रहता है!!

    ©सांझ

  • saanjh__ 1w



    From "plucking flowers" to "write a poetry on the autumn", we all grew up!!


    ©saanjh

  • saanjh__ 2w

    @abhi_mishra_ जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं अभी❤️
    जन्मदिन हर साल आता है, मगर मेरे जैसे दोस्त जिंदगी में एक ही बार आतें हैं���� तो सम्भाल कर रखो����
    बहुत सारा प्यार और आशीर्वाद ��❤️


    पता है, यहां से बहुत दूर, सही और ग़लत के पार, एक मैदान है, मैं वहां मिलूंगा तुझे!! ~Rockstar

    Read More



    कि सब पढ़ेगें वो तुम्हारी खुद से बतयाती ग़ज़लें, ह्रदय की गति को दौड़ाने वाले शेर हल्की सी मुस्कान लिए मगर तुम अनकहे अधपके शब्दों संग मूक संजीदा मुस्कुराहट को बरकरार रखते हुए मिलना तुम मुझे!!

    जिस वक्त कुछ खोए हुए हों चांद-सितारों में और तुम घर के छत की मुंडेर से नीचे गली में झांकों और देखों कि आते-जातों के बीच की दूरी से बचकर निकल गया हो और जा मिला हो सर्द कोहरे में तुम्हारा विचलित मन तो उस वक्त मिलना तुम मुझे!!

    जब निकलों कहीं सफ़र पर और बैठ तुम किसी नदी किनारे छुओं तुम ठहरे कंंकर पत्थरों को हौले-हौले अपने पैरों से और महसूस करो तुम सुकुन को, तो हां उसी सुकुनियत के संग मिलना तुम मुझे!!

    तुम किसी को उसका इन्द्रधनुष दिखाओ और वो तुम्हें कर न पाए महसूस, तब वो ही धुमैला रंग ओढ़े मिलना तुम मुझे!!

    आंखें उदास हों, सब साथ हों मगर तुम खुद के साथ न हो तो बैठना तुम बगीचे किनारे और इंतजार करना भोर का, तो तुम महसूस करोगे कि वो रात भर की उदासी तो छलक कर पहुंच चुकी है रातरानी के मुरझाए फूलों पर और हल्की-सी हां वो ही बारिश की फुहारों सी मुस्कान आ चुकी है सूरजमुखी के फूलों पर तब मिलना तुम मुझे!!

    जब ऊब जाओ जब तुम अपने परिपक्व रूप से और तुम बनना चाहो बच्चा जो ज़ोर से गली में हल्ला मचाकर, एक-दो घरों की ट्रिंग-ट्रिंग बजा कर भागना चाहो,राह चलते किसी बच्चे के मुंह पर आइसक्रीम से उसे जोकर बनाना चाहे,और वो कोका कोला पीकर एक शराबी की तरह गाना-बजाना, झूमना चाहो तो थोड़ी सी ही सही मगर हां बचकानी हरकतें लेकर मिलना तुम मुझे!!

    और हां सुनो!!
    जब भी किसी मोड़ पर , किसी सफ़र पर मिले हम मंजिलों को ढूंढने के लिए तो तुम सिर्फ़ "तुम" बनकर मिलना तुम मुझे!!

    ~मन

  • saanjh__ 4w

    ����

    @abhi_mishra_

    Read More



    It's all about you!!

    An ode about love
    Brings peaceful smile, dreamy eyes
    Heart skips more
    In grey, we together embraces the rainbow

    Musical fragrance of nature
    Is the essence of you where
    Serenity sings lullaby, give
    Hopeful notes to scars to dance on the
    Rhythm of stars
    Amidst the warmth of an ode about love


    ~yours

  • saanjh__ 4w



    Honey!!
    I feel your poetry is like
    a beautiful sunset and lonesome me
    When I can't hold your hand, can't walk by your side and can't recite a poem to you of my bygone day


    ~saanjh

  • saanjh__ 5w

    फ़रियाद - शिकायत

    bestfriend✨
    ����

    Read More



    तुम बिन सुब्ह में पंछी फ़रियाद बहुत करते हैं,
    तुम जो होते तो, हर शब को ये फ़लक सुनता नग्में प्यार की।



    ~ saanjh