saketpathak143

चांद की सिफ़ारिश ��✨��

Grid View
List View
  • saketpathak143 19w

    14/02/2022

    Read More



    तो अर्ज़ किया है
    मै किसी की यादों की क़ैद में हूं कोई मुझे छुड़ालो ना
    मै किसी से थोड़ा नाराज़ हूं कोई मुझे मनालो ना
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 20w

    04/02/2022

    Read More



    अर्ज़ किया है
    तू ना मिलती तो शायरी में गुलज़ार ना होते
    तुझसे अगर इश्क़ ना होता तो तेरे तलबगार ना होते

    ©saketpathak143

  • saketpathak143 20w

    04/02/2022

    Read More



    अर्ज़ है
    तू बात करे मुझसे गुज़ारिश करता हूं
    हर बार खुदसे बात की शुरुआत करके तरस की उम्मीद रखता हूं
    पर अब उम्मीद खो दी है हमने तेरे आने की इसलिए तुझपे अब नज़र नहीं रखता हूं
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 20w

    04/02/2022

    Read More



    अर्ज़ किया है
    मुझे इस गम से रिहाई मिल जाए
    मुर्शद
    मुझे इश्क़ नाम के रोग की कोई दवाई मिल जाए।
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 20w

    04/02/2022

    Read More



    अर्ज़ है
    दूर है लेकिन दिल से तुमको याद करते है
    तुम्हारे आने का इंतज़ार करते हैं
    किसी को पता ना चले इसलिए
    दिल ही दिल में रब से तुम्हारे बारे में बात करते है
    और तुम ये याद रखना कि हम तुमको याद करते हैं
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 21w

    04/02/2022

    Read More



    अर्ज़ किया है
    उनकी कुछ बाते कमाल कर जाती हैं
    कुछ गम में हसा जाती हैं तो कुछ हसाते हसाते गम दे जाती है
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 21w

    29/01/2021

    Read More



    अर्ज़ किया है
    तुम्हे कैसे बताऊं कितना याद आती हो तुम

    जब भी तुम्हे भूलने की कोशिश करूं मेरे सामने हर बार आती हो तुम
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 22w

    26/01/2022

    Read More



    अर्ज़ किया है
    मुझे इश्क़ ने भी साज़ा दी है
    मेरी हस्ती ज़िंदगी में भी मुझे रोने की वज़ह दी है।
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 22w

    26/01/2021

    Read More



    अर्ज़ किया है।
    मेरी ज़िन्दगी में ये भी मुकाम आया है
    जब मैं रोया हूं और मेरे भाई ने मुझे गले लगाया है।
    ©saketpathak143

  • saketpathak143 23w

    19/01/2022

    Read More



    अर्ज़ किया है
    जमाने को देखा है हमने हमसे रूठते हुए
    की
    ज्यादा वक़्त नहीं लगा किसी को हमे भूलते हुए
    ©saketpathak143