shashiinderjeet

instagram.com/shashinderjeet

Published author 'Aviral Dhara ' Co - author in more than thirty nine anthologies column writer in reputed megazines Invented platinum poetry

Grid View
List View
Reposts
  • shashiinderjeet 5w

    #भूल भुलादो
    #miraquil , #poetry ,#poetryindia #hindi poetry

    Read More

    भूल भुलादो

    कुछ तो भूल हुई है मुझसे
    तभी तो रूठ गये हो मुझसे
    भूल गये हो मुझे मनाना
    इतने नाराज हो तुम मुझसे
    इंतज़ार में बैठी हूँ कबसे
    गले मिलोगे आकर मुझसे
    देखो देर लगाना न तुम
    नज़र न मिल पायेगी मुझसे
    जल्दी से ही आ जाना तुम
    मुश्किल पीछा छुड़ाना मुझसे

    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 20w

    My quote

    " Everyday expresses in its own way
    It is upon you , how you enjoy
    the day in your own way "

    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 35w

    Wave

    A sudden wave of keen emotion
    Excitement , sometimes  manifested
    As a tremor , or tingling sensation
    Entered in mind totally dry
    Sympathy , inner heart produced
    The tremendous power to face it
    Optimistic power daggled best
    Fear of tremor gone at rest


    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 35w

    कैसे रूठूं

    कैसे रूठूं न तुमसे ज़िंदगी बता मुझको
    जीने भी नही देती तूँ , न मरने दे मुझको

    आज भी रहमत का ही इंतज़ार है ज़िंदगी
    उमर भर हालांकि तूने है सताया मुझको

    थक गया हूँ अब ज़िंदगी मैं तुझसे हारते
    जीत के जश्न का माहौल तूँ लादे मुझको

    पास आकर न मुस्करा न बहला तूँ मुझे
    तेरी हर अदा ने बनाया मुखबिर मुझको

    अदाओं में कुछ ओर था दिल में कुछ ओर
    दीवाना सा बना छौड़ दिया तुमने मुझको

    ज़िंदगी आई थी तूँ पास मेरे नेमत बन कर
    हालातों की लाचारी ने बेबस किया मुझको

    है तूँ ही जो सितमगर तो गिला क्या होगा
    होता गर ओर वो न शिकवा होता मुझको

    ©शशिइन्द्रजीत

  • shashiinderjeet 50w

    Valentine Day

    Hey Guys...♡
    The marvellous Valentine Day is near
    Feel love in valentine air
    Full of hearts with love and fun
    Celebrate precious time with loved one
    Energies in positive will be productive
    Really innovative and interactive
    Channelise the life in a right way
    Unpleasant moment will get washed away
    New merriments will open the gate
    Step in with devotion to enter the gate
    Beats of hearts will sing new song
    Two hearts with one beat will never go wrong 
    Prepare your mind for ever valentine
    Enjoy every moment as day of valentine

    ©Shashinderjeet

  • shashiinderjeet 51w

    Boobies

    Boobies boob
    To create violence
    One has to face boldly
    With this claptrap

    Inhuman activisim
    Hurt the innocent
    Crusty actions should be
    Crushed
    To keep safe the Innocent

    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 51w

    My quote

    "Concocted lies
          Lost their existence . "
     
    ©shashi Inderjeet


     

  • shashiinderjeet 60w

    ज़िंदगी क्यूँ ?

    अभी से थक हार कर क्यूँ  बैठ गयी ज़िंदगी ?
    साथ चलते चलते कुछ फासले तूँ भी तय कर

    ज़िंदगी में पहले ही दुश्वारियां कहां थी कम
    कोरोना की आमद से इजाफा हो रहा पल भर

    कोरोना भी आजकल डराने लगा है , हर पल
    आवाज हो भारी सांस रोकने लगता आ कर

    दहशत घेर लेती है दिल दिमाग को इस कदर
    तन्हाईयां जैसे आ जायें गी लिपटने दौड़ कर

    भुतहा अंधेरो में न कहीं खो न जाए यह सफर
    है ख़ौफजदा ज़िंदगी कितनी खुद ही रहम कर

    थक हार गये हैं तेरी दहशत से कोरोना अब
    छोड़ पीछा धरती का जा सफ़र आखिरी कर

    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 62w

    सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ
    आप सब के जीवन में खुशियों के पुष्प खिलाएँ
    शशिइन्द्रजीत

    #दीपावली

    #mirakee #writersnetwork #HUnetwork #hindilekhan #hindiwriters #hindi_poetry #hindisahitya #hindinama #writersofinstagram #stories #hks

    Read More

    शुभ कामनाएँ....

    दीपावली
    माना कोरोना ने बदहवास किया
    फिर भी हम जी भर खिलखिलाएं गे

    भारतवासी मिल मिटटी के दीप जला
    अमावस में पूर्णिमा धरा पर लाएं गे

    रामराज्य समरसता की महक फैला
    सितारों सा भारत को जगमगाएं गे

    विजय पर्व से सीख ले धर्म विजय की
    उर को सत्य धर्म गुणों से सजाएं गे

    घृणा की विष सोच मिटा सब उर से
    एकता की पताका सभी लहराएं गे

    अपने सद गुणों से भर सब के उर
    विश्व को भी एकता अमृत पिलाएं गे

    जिस मानव में भरे नहीं हैं मानव गुण
    उनको मानवता का गुण सिखलाएं गे

    ©shashiinderjeet

  • shashiinderjeet 64w

    गणतंत्र दिवस

    #RepublicDay Jai Hind
    देश , सर्व प्रथम
    राष्ट्र धर्म , सर्व प्रथम
    इसलिए सर्व श्रेष्ठ लोग
    निस्वार्थ हो ,राष्ट्र वादी बनें ।
    राष्ट्रीय सुरक्षा में , अपना योगदान दें ।
    सब श्रेष्ठ नेताओं का चयन करें ।
    देश की सेवा करें ।
    स्वयं जागरूक बनें,
    समाज को जागरूक बनाएं ।


    ©shashiinderjeet