singlemom1978

I believe in miracles.

Grid View
List View
  • singlemom1978 3w

    बेटियों को पंख दो
    पिंजरा नहीं
    उन्हें खुला आसमान दो
    चार दिवारी नहीं

    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    Karma

    A sinner lives peacefully
    An Innocent dies peacefully
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    We keep forgiving ppl whom we love
    And they keep using us till they r done with us. Love such a beautiful word could be so dangerous for someone and could be so useful for another.
    Only a fool loves. And only a shrude one uses love to destroy someone completely. And in this love game an innocent gets victimised where as the Smarter one wins it.
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    When u make a choice
    It’s just not a choice
    But ur entire life
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    Zindagi kismat se nahi
    Faislon se banti hai

  • singlemom1978 4w

    I don’t know what we r
    Fools or hopeless creatures
    We just keep walking
    Thinking that the God
    Whom we cannot see
    Has a plan for us
    Just this faith on some
    Power which is invisible
    Keeps us alive.
    This life does this to us
    And what is life ?
    Which we r bound to live
    No matter what
    So what we r
    Slaves of this life
    We get this life
    Without our permission
    And it’s taken away
    Again without our
    Permission
    Humans r blunders
    On this earth
    And life is a sin
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    It’s a myth that people change
    In reality they don’t
    We just become adaptive
    To them.
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    ग़ैरों से क्या गिला करें
    हमें तो अपनो ने लूटा
    जिसने घाव किए
    उस ख़ंजर को भी
    सम्भाल कर रखा
    अपनो से बढ़कर कोई
    दुश्मन नहीं
    अपनो से ज़्यादा कोई
    ग़ैर नहीं
    जो संभलना है तो
    अपने ही लोगों से संभलो
    ग़ैरों का कोई डर नहीं।
    ज़िंदगी का खेल बड़ा निराला
    ग़ैरों ने हमें अक्सर सम्भाल
    जिन अपनो के बीच हम रेहते the
    उन्होंने ही घर से निकाला।
    अब उनके साथ सुकून मिलता है
    जिन्हें हम नहीं जानते थे
    और उन लोगों के बीच घबराहट होती है
    जिन्हें हम सालो से अपना कहते थे
    क्या अजब मज़ाक़ है यह भी
    अब भी वो हँस कर ही मिलते हैं।
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 4w

    उमीद सिर्फ़ ख़ुदा से करें
    इंसानो से नहीं
    विश्वास सिर्फ़ अपने कर्म पर करें
    तक़दीर पर नहीं
    रास्ता सत्य का हो तो
    कठिन होगा
    पर जदी झूठ को चुने
    तो सफ़र अंतिम होगा
    जैसा करोगे वैसा भरोगे
    यही जग की रीत
    आगे बढ़ो और भूल जाओ
    जो बात गयी बीत।
    ©singlemom1978

  • singlemom1978 9w

    Sabki apni taqdeer
    Aur har taqdeer ka
    Apna ek khel
    ©singlemom1978