sirf_ehsas

Sirf Ehsas hun Ehsason Ke Shahar Se

Grid View
List View
  • sirf_ehsas 1d

    फुर्सत में गुजरना कभी दिल से होकर मेरे..!!

    दर्द लिपट न जाये कदमों से तेरे तो फिर कहना....!!!!

    (अज्ञात)

  • sirf_ehsas 1w

    ⚜️❤️

    किस जरूरत को दबाऊं , किसे पूरा करूँ,

    अपनी 'तनख्वाह' कई बार गिनी मैंने...!!

  • sirf_ehsas 1w

    यहाँ ज़िन्दगी बर्वाद किये बैठे हैं,

    तुम बताओगे हमे इश्क क्या है।

  • sirf_ehsas 1w

    अफ़सोस करने वालों की कतारें नहीं थम रहीं,

    जब से सुना है, कभी तुम्हें चाहा था..!

  • sirf_ehsas 1w

    ये हुआ खुलासा आख़िर में सारी कहानी समझ कर,

    कि मैं रेत फाँक रहा था, अब तलक पानी समझ कर..!

  • sirf_ehsas 1w

    मेरी नज़रों ने उसे सिर्फ दिल तक आने की इजाज़त दी थी

    मेरी रूह में समा जाने का हुनर .. उसका अपना था ,

  • sirf_ehsas 1w

    जहां दिल भर जातें है,


    वहां बहाने मिल जातें है...

  • sirf_ehsas 1w

    बेवफाई भी उस लड़की को ठीक से नहीं आती,

    बिछड़ के भी पूछती रहती है .. कैसे हैं आप ?

  • sirf_ehsas 1w

    आसमां पे....
    ठिकाने किसी के नहीं होते....

    जो ज़मीं के नहीं होते....
    वो कहीं के नहीं होते....

  • sirf_ehsas 1w

    ⚜️❤️

    ना बताओ हमें की इश्क़ क्या है ?

    एक पागल सी लड़की पे हम पागल हुए बैठे हैं।