tanish_ji

ख़ामोश मुसाफ़िर..... JaiMahakal

Grid View
List View
Reposts
  • tanish_ji 9w

    Sil-Sila

    हंसते हुए गले लगाया था उसने एक आख़री दफा....
    ज़िंदगी भर का गम दे गई वो बेवफ़ा.
    अबतो अपनों मे भी तन्हा सा रहता हूँ.
    दर्द-ए-जुदाई मै ख़ामोशी से सहता हूँ.
    बिछड़ने वाले तू आख़िर मिला ही क्यों था.
    ये झूठे प्यार का हमारे दरमियाँ सिलसिला क्यों था.
    तेरा अब ज़िक्र भी करना मुनासिब ना लगे...
    तेरा भी ज़ालिम बिन मेरे किसी से दिल ना लगे
    तड़प भी ऐसी हो ना मि मिलू ना सुकून मिले.
    रोना चाहे लाख तू..और रोने का मौक़ा ना मिले
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 9w

    उड़ने वाला पंछी जब पिंजरे मे रहता है.
    घुटता है अंदर दम हर रोज़ यही कहता है.
    निकलेगा दिन बीतेगा रात कभी तो hogi पंछियों से mulakat....
    बस इसी आस मे वो जुदाई का दर्द सहता है.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 9w

    रंग।

    आज के दिन रंग ही लगाना......
    हर रोज़ की तरह अपने रंग दिखाना मत.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 10w

    Naraz..

    Kch behtar sa likh
    Behtareen se Nawaz diya....
    Jiske khushiyon p Marta rha m kai dafa usne manaya bhi nhi jabse mujhe naraz kiya.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 11w

    अर्सा..

    इक अर्सा लगा ज़माने मे
    तू है नहीं ये समझाने मे
    कितनी रातें को रोया हू
    तेरी यादों को मिटाने मे.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 11w

    थामना...

    थामना हांथ मेरा फिर छोड़ चली जाना....
    कसक बन के ही सही दिल मे तुम बस जाना।
    Rehna mere bhi sheher me mehman ban kr.
    Kehna kch dil ki fr chal dena kch meri sun kr.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 11w

    Rahon m chhod Jane k Liye
    .
    .
    Ek Mulaqat to mukammal Kr Jana


    ©tanish_ji

  • tanish_ji 11w

    Kehna tha kch sunoge....?
    .
    .
    .
    Kaha ho ?


    ©tanish_ji

  • tanish_ji 32w

    कुछ....

    इल्ज़ाम जो लगा रहे हो कुछ तो सोचा करो....
    बदनामी का दाग सरे आम लगा रहे हो कुछ तो सोचा करो....
    तन्हा तो छोड जाते हो हमे रोता हुआ.. अरे कुछ तो सोचा करो....
    तोड़ने से पहले वादे कुछ तो सोचा करो....
    मुद्दतें गुज़र रहीं है इन्तज़ार मे तेरी.....
    इतना तड़पा रहे हो ऐ ज़ालिम कुछ तो सोचा करो.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 33w

    3-oct-21

    Read More

    Decision made by 1 person in a relationship destroyes other persons lifetime happiness.
    ©tanish_ji