vaishally

BE THE BETTER VERSION OF YOURSELF

Grid View
List View
Reposts
  • vaishally 5d

    खुद की खुद से भी बात ज़रूरी है...

    रोज़ ना सही...
    पर कभी कभी खुद से भी मुलाकात ज़रूरी है...

    ©vaishally

  • vaishally 1w

    कभी अल्फाज़ अधूरे लगते हैं…
    कभी जज़्बात अधूरे लगते हैं...

    हो जाएं अगर ये दोनों ही पूरे...
    तो ख्यालात अधूरे लगते हैं..


    ©vaishally

  • vaishally 2w

    तुझसे प्यार तो करते हैं...पर इज़हार ना करेंगे...

    एहसास जो जुड़े हैं तुझसे...वो कभी बयां ना करेंगे...
    ©vaishally

  • vaishally 2w

    मर भी जाऊं मैं अगर...तो भी उसे मेरे दर्द का एहसास ना होगा...

    और अगर एहसास होगा भी तो...

    तो उस दर्द में कोई जज़्बात ना होगा...

    ©vaishally

  • vaishally 2w

    आज भले ही गुमनाम हूं...
    पर कल मेरा भी नाम होगा...

    आज भले ही चुप हूं...
    पर कल अल्फाजों का एक तूफ़ान होगा...

    आज भले ही नजरंदाज कर रहें है सब...
    पर कल यही मुझसे मिलने को बेताब होंगे
    ©vaishally

  • vaishally 2w

    याद नही करती फिर भी याद आ जाते हो...
    मोहब्बत थी तुम से कभी...
    ये याद दिला जाते हो...
    ©vaishally

  • vaishally 2w

    तेरी नज़रों को अब हम कभी नज़र नही आएंगे...
    अब तुम से हम इतने दूर हो जाएंगे

    ज़िक्र होगा जिस महफिल में तुम्हारा..
    वहां से भी अब हम ...
    बस मुस्कुरा कर चुप चाप चले जाएंगे...

    अब इतनी दूरियां बनाएंगे हम तुमसे..
    कि अगर कभी ... तुम हमें याद भी करोगे...
    तो खयालों में भी ना हमें ढूंढ पाओगे...

    जानती हूं ये बात भी कि तुमसे कभी नफ़रत भी ना कर पाएंगे...

    पर अब प्यार से भी तुम्हें कभी याद ना कर पाएंगे...

    ©vaishally

  • vaishally 11w

    अपनी ही मर्ज़ी का अब हम ख्याल नहीं रखते...
    दिल में एहसास तो रखते हैं पर..

    होंठों पर अब कोई सवाल नहीं रखते...


    ©vaishally

  • vaishally 20w

    Need ur help guys ... follow my insta page vaishu ki creativity ...its my new initiative..so i need ur support..

    ©vaishally

  • vaishally 20w

    ख्याल....

    लिखूं जब भी कुछ ...तो दिल में उसका ख्याल आ जाता है..
    लबों पर तो नहीं आता पर...
    पर ज़हन में उसके साथ ना होने का सवाल आ जाता है...

    कहूं भी अगर कुछ जुबां से...
    तो मेरे हर ज़िक्र का भी वो पहला ख्याल बन जाता है...


    ©vaishally