Grid View
List View
Reposts
  • zillah 192w

    kuch dost hote hai jinka mol pata nhi hota...
    bachcho sa lagta h jis k saath, mummy wali care.
    mere aage aage mera haath thaam kr chalti hai... oose andaza nhi shayad kitni khushi hoti h oos waqt ��
    bas yaad aa gyi teri
    #teeshal

    Read More

    mera haath thaam kar chalti hai
    khatron se bacha kar rakhti hai
    humesha mera dhyan hota hai
    kehti kuch nahi hai na hi shayad mujhe samajhti hai
    phir bhi saath rehti hai
    main haath chhuda kar bhaagu toh yuh rok mujhe pakadti hai
    na mere bol samajhti hai na oose meri chuppi se aitraaz hai
    jo kahu kar deti hai par kabhi lad leti hai
    samajh na aayi woh mujhe ya samajhna nahi chaha maine
    raaz bana kar maine rakha hai
    woh manzil mein mili ek raahi, ek saathi hai
    bas yaadon mein qaid reh jayegi (alag hone ke baad)
    yahi soch kar ek dost ki jagah oose rakha hai
    ©zillah

  • zillah 199w

    khuda ko

    oosne dharm baatne nahi kaha
    oosne sarhadd banane nahi kaha
    fir Pak ne goli chala do kyu kaha?

    oosne bair rakhne nahi kaha
    oosne rang alag karne nahi kaha
    fir safed aur naarang ne hare ka kya bigada?

    hai junoon jo sawar ooske sir
    maarne aur kaatne ka
    majboor hum ghutne tek lad lete hai
    jawaan shahid ho lete hai

    dosti ka haath nahi leta
    chain se jeene bhi nahi deta
    jannat ki maang hai oose(Pak ko)
    jo apni hi betiyon ko jannat nahi deta

    mandir, masjid,girjaghar baanta
    dharti baanti, saagar baanta
    insaan bhi baant liya. shayad oose manzoor nahi do deshon ka ek hona
    ©zillah

  • zillah 199w

    तारा

    आज चमकता हुआ तारा टूटा है
    जो जल रहा था दर्द समेटे
    आज बुझ गयी वो आग, लो टूट गया वो तारा।
    आज देख लो उसे भर कर आँखें, मांग लो जो दिल करे
    हो मंज़ूर अगर अल्लाह को तो वो तुम्हारी ख्वाहिश पूरी करे।
    कहते हैं मरने वाले की आखिरी ख्वाहिश हमेशा पूरी हो,
    आज मरा कोई और है और ख्वाहिश किसी और की।
    तुम इंसान, इंसान ही रह गए,
    करीबियों की छोड़ो...
    पत्थर के टूटने पर भी खुश हो गए।
    चलो छोड़ो...
    कबीर कहते हैं कि, मरने वाले को खुशी से जाने दो
    आत्मा का मिलन परमात्मा से हो जाने दो।
    ©zillah

  • zillah 201w

    khud pr yaqeen rkho
    koi saath ho ya na ho lekin tumhare saath tum ho
    jo roshni mein tum khud ki chhavi dekhte wo andhere mein tumhare andar h tumhare saath tumhari himmat k roop mein
    jab khud se pyar hoga tab kisi k saath ki zaroorat na hogi
    #chhavi #allme #selflove

    Read More

    कहते है अंधेरे में तो परछाई भी साथ छोड़ देती है...
    लेकिन माफ कीजिए जनाब,
    अंधेरे में भी परछाई साथ ही होती है, बस देखने के लिए नज़र खास चाहिए होती है।
    क्योंकि कहने को तो यह भी है कि...
    जो जैसा दिखाई दे वैसा न हो,
    जो दिखाई न दे वो शायद हो।

    तुमने देखकर भी न देखा हो...
    जब अंधेरे में भी उम्मीद का एक किरण नज़र आता है,
    जब सारे बंद राह में एक राह साफ नज़र आता है,
    जब टूटे-बिखरे हुए तुम में तुम्हे खुद का वजूद नज़र आता है,
    जब सबके छोड़ जाने के बाद अकेले हो जाने का दर्द रह जाता है।
    तो सुनो...
    उस दर्द को छोड़ो, तुम कभी अकेले नहीं थे, न हो।
    जो उजियारे में दिखे वो छवि है,
    जो तुम्हारे अंदर है वो छवि है,
    काली है या साफ़ है,
    अंदर है या बाहर है...
    वो छवि है। (तुम्हारी परछाई)
    ©zillah

  • zillah 203w

    i love this kind of night walk with my sister.
    may be you all love to have an walk with anyone special like this and you never wanna miss any single time to spend with them.
    after so long time i have written this. hope you'll like. ☺️

    Read More

    Hum chalein,
    Tum chalein.
    saath-saath...
    Woh chaand chalein,
    hawa chalein, baadal chalein.
    Lekin,
    Woh fool so gaye,
    woh patte so gye.
    Neend mein choor...
    panchhi so gaye, pashu so gaye.
    iss beech chalte chalte,
    dheere dheere waqt dhalein...
    mehakti feeza mein humari baatein chalein,
    Yaadein Jude.
    chahe din dhalein, shab dhalein
    par yeh sharvari wali safar kabhi na ruke.
    ©zillah

  • zillah 211w

    The place i think where all 5 elements gets together ��
    #beach❤️

    Read More

    वो किनारा ही है!

    बस थमकर एक पल
    सब कुछ देखना है...
    उस लहर को उछलते,
    जिसे अम्बर को छुना है
    उस हवा को लहराते,
    जिसे रेत को उड़ाना है।

    बस यामिनी के आगोश में,
    उस किनारे पर जब
    अलाव जलता है
    बस सब कुछ थम ही जाता है
    क्योंकि, सारे तत्वों का मिलन हो जाता है।
    ©zillah

  • zillah 212w

    Dedicated

    Read More

    Being the 'GOOGLE'of someone's life is something like being important to them.
    You get respect
    You feel special
    You are the answer to every question for them.
    Be thankful of them
    Do not ever cheat them
    ©zillah

  • zillah 213w



    Ignorance is what I can't do to my parents words
    ©zillah

  • zillah 213w

    By unknown writer

    Read More

    Singing for the grace of God

    Sri sathya Sai Baba says that the three essential components of music-bh-bhav, ra-raga and ta-taal
    When joined together gives us "bharat".

  • zillah 214w

    एक पल में क्या नहीं हो जाता है
    चेहरे पर उदासी
    उदासी से आँसू
    आँसू से एक मुस्कान हो जाता है
    बस एक ही चीज़ नहीं हो पाता
    उस बेबसी का जाना
    खुद के भावनाओं को समझ पाना
    ©ज़िलाह